कांसुलर सर्विसेज कांसुलर सर्विसेज

नागरिक और वाणिज्यिक मामलों में पारस्परिक कानूनी सहायता संधि (एम.एल.ए.टी.)

(i) उन देशों की सूची, जिनके साथ सिविल और वाणिज्यिक मामलों में एम.एल.ए.टी., परिशोधन साधन के आदान-प्रदान के परिणामस्वरूप क्रियाशील है:

क्र.सं.

देश

हस्ताक्षरित

परिशोधन के साधन का आदान-प्रदान

1.

बहरीन

13.01.2004

21.10.2010

2.

फ्रांस

25.01.1988

07.12.2004

3.

रूस

03.10.2000

11.04.2006

4.

आज़रबाइजान

04.04.2013

12.08.2014

5.

यूएई

31.10.1990

29.05.2000

6.

मंगोलिया

03.01.2001

15.02.2004


(ii) भारत ने निम्नलिखित सात देशों के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर भी हस्ताक्षर किए हैं:-
समझौता ज्ञापन (एमओयू)
क्र.सं. देश एमओयू हस्ताक्षरित
1. तुर्की भारतीय गणराज्य के विधि एवं न्‍याय मंत्रालय और तुर्की गणराज्य के न्याय मंत्रालय के बीच सहयोग पर समझौता ज्ञापन (एमओयू) 10.04.2002
2. चीन भारतीय गणराज्य के विधि एवं न्‍याय मंत्रालय और पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के सर्वोच्च लोक अभियोजन सेवा मंत्रालय के बीच सहयोग पर समझौता ज्ञापन (एमओयू) 23.06.2003
3. रूस भारतीय गणराज्य के विधि एवं न्‍याय मंत्रालय और रूसी संघ के न्याय मंत्रालय के बीच सहयोग पर समझौता ज्ञापन 03.10.2000
4. कतर कानूनी मामलों के क्षेत्र में सहयोग पर भारतीय गणराज्य और कतर राज्य सरकार के बीच समझौता 09.04.2012
5. मोरक्को विधि एवं न्याय के क्षेत्र में सहयोग हेतु समझौता ज्ञापन 02.04.2018
6. यूनाइटेड किंगडम यूनाइटेड किंगडम के न्याय मंत्रालय और विधि एवं न्याय मंत्रालय, भारतीय गणराज्य सरकार के बीच कानून एवं न्याय के क्षेत्र में दोनों देशों के बीच सहयोग और संयुक्त सलाहकार समिति के गठन पर समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर 10.07.2018
7. उज़्बेकिस्तान विधि और न्याय के क्षेत्र में सहयोग पर भारतीय गणराज्य के न्याय मंत्रालय और उजबेकिस्तान गणराज्य के न्याय मंत्रालय के बीच समझौता ज्ञापन 29.09.2018