मीडिया सेंटर मीडिया सेंटर

माननीय उपराष्ट्रपति की सेनेगल की राजकीय यात्रा के दौरान भारत-सेनेगल संयुक्त वक्तव्य

जून 04, 2022

1. भारत गणराज्य के उपराष्ट्रपति श्री एम वेंकैया नायडु ने 1 से 3 जून, 2022 तक सेनेगल की राजकीय यात्रा की। उनके साथ स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्य मंत्री डॉ भारती प्रवीण पवार, माननीय सांसद, श्री सुशील कुमार मोदी, श्री विजय पाल सिंह तोमर और श्री पी रवीन्द्रनाथ और वरिष्ठ अधिकारी भी थे।

2. 1 जून को सेनेगल में लेओपोल्ड सेदार सेंघोर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचने पर, उपराष्ट्रपति का विदेश मामलों और विदेश में सेनेगल प्रवासियों की मंत्री महामहिम मैडम आइसाता टाल साल ने स्वागत किया।

3. यात्रा के दौरान सेनेगल गणराज्य के राष्ट्रपति, महामहिम श्री मैकी साल ने उपराष्ट्रपति का स्वागत किया। दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय सहयोग, भारत-अफ्रीका साझेदारी और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा की।सौहार्दपूर्ण माहौल में हुए इन आदान-प्रदानों ने दोनों नेताओं को भारत और सेनेगल के बीच मौजूद मित्रता और सहयोग के उत्कृष्ट संबंधों के साथ-साथ दोनों मित्र राष्ट्रों की भलाई के लिए इन संबंधों को मजबूत करने की उनकी साझा इच्छा पर अपनी संतुष्टि व्यक्त करने में सक्षम बनाया।

4. भारत के उपराष्ट्रपति और उनके साथ आए प्रतिनिधिमंडल ने सेनेगल गणराज्य के राष्ट्रपति महामहिम श्री मैकी साल के नेतृत्व में सेनेगल के प्रतिनिधिमंडल के साथ द्विपक्षीय बातचीत की। दोनों पक्षों ने द्विपक्षीय संबंधों और बहुपक्षीय सहयोग से संबंधित सभी मुद्दों की समीक्षा की।

5. दोनों नेताओं ने इस बात पर संतोष व्यक्त किया कि द्विपक्षीय व्यापार 2021-22 के दौरान 1.65 अरब अमेरिकी डॉलर के नए निशान तक पहुंच गया है, और व्यापार क्षेत्र में विविधता लाने की आवश्यकता पर जोर दिया। वे कृषि, ऊर्जा, स्वास्थ्य, रेलवे, खनन, आवास, तेल और गैस आदि जैसे कुछ महत्वपूर्ण क्षेत्रों में सेनेगल में भारत से अधिक निजी निवेश को प्रोत्साहित करने पर सहमत हुए।दोनों नेताओं ने 350 मिलियन अमरीकी डालर की भारतीय ऋण सहायता, 305 मिलियन अमरीकी डालर के क्रेता ऋण और आईटीईसी के तहत क्षमता निर्माण प्रशिक्षण कार्यक्रमों आदि के माध्यम से दोनों देशों के बीच मौजूद विकास सहयोग साझेदारी का भी स्वागत किया।

6. भारत के उपराष्ट्रपति ने सेंटर फॉर एंटरप्रेन्योरशिप ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट (सीईडीटी) के चरण 2 के उन्नयन की घोषणा की, जिसे भारत से अनुदान की मदद से बनाया गया था।मानव संसाधन विकास और क्षमता निर्माण में निवेश के महत्व को स्वीकार करते हुए, उपराष्ट्रपति ने सेनेगल के सिविल कर्मचारियों के लिए एक विशेष आईटीईसी अंग्रेजी दक्षता पाठ्यक्रम और सेनेगल के राजनयिकों के लिए एक विशेष व्यावसायिक पाठ्यक्रम की भी घोषणा की। दोनों नेताओं ने रक्षा, आतंकवाद और समुद्री डकैती विरोधी क्षेत्र में प्रशिक्षण की संभावना पर चर्चा की।

7. दोनों नेताओं ने स्वीकार किया कि पिछले दशकों में भारत और सेनेगल के बीच लोगों से लोगों का आदान-प्रदान दोनों देशों के बीच संबंधों को मजबूत करने के लिए एक स्तंभ है।

8. दोनों पक्षों ने निम्नलिखित समझौता ज्ञापनों/समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं:

-2022-26 के लिए भारत और सेनेगल के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान कार्यक्रम (सीईपी);

-राजनयिक, आधिकारिक / सेवा पासपोर्ट धारकों के लिए वीजा आवश्यकता से पारस्परिक छूट पर समझौता; और

-युवा सहयोग पर भारत और सेनेगल के बीच समझौता ज्ञापन,

9. भारत और सेनेगल के बीच मौजूद मैत्रीपूर्ण और सहयोगात्मक संबंधों के आधार पर, दोनों नेताओं ने दोनों देशों के हित में,विशेष रूप से उन क्षेत्रों में जो तुलनात्मक लाभ प्रदान करते हैं जो सार्वजनिक-निजी भागीदारी के विकास को बढ़ावा दे सकते हैं, पारस्परिक रूप से लाभकारी आर्थिक साझेदारी का निर्माण करने और "उद्गामी सेनेगल 2035 योजना" में उपलब्ध निवेश के सभी अवसरों का लाभ उठाने का वादा किया।

10. दोनों नेताओं ने अंतरराष्ट्रीय राजनीतिक मुद्दों पर चर्चा की, जिसमें अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद और अन्य सशस्त्र संघर्ष शामिल हैं जो दुनिया में शांति और स्थिरता के लिए अनुकूल नहीं हैं। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय मंचों पर साझा हित के मुद्दों पर एक-दूसरे का समर्थन करने का भी वादा किया।

11. भारत के उपराष्ट्रपति ने राष्ट्रपति मैकी साल को भारत आने के लिए आमंत्रित किया। सेनेगल के राष्ट्राध्यक्ष ने सहर्ष इस निमंत्रण को स्वीकार कर लिया। यात्रा की तारीख पर राजनयिक चैनलों के माध्यम से सहमति होगी।

12. सेनेगल की नेशनल असेंबली के अध्यक्ष महामहिम श्री मुस्तफा निआसे ने भी भारत के माननीय उपराष्ट्रपति से मुलाकात की।

13. उपराष्ट्रपति ने सेनेगल में रहने वाले भारतीय समुदाय को संबोधित किया। उन्होंने डकार में इंडिया-सेनेगल बिजनेस फोरम को भी संबोधित किया। इसी तरह, उन्होंने 'तिरंगा-तेरंगा: भारत और सेनेगल के बीच राजनयिक संबंधों के 60 वर्ष' विषय पर डकार के चेख अंता डायोप विश्वविद्यालय (यूसीएडी) में एक सार्वजनिक भाषण दिया।”

14. सेनेगल की अपनी राजकीय यात्रा के अंत में, भारत के उपराष्ट्रपति ने अपने प्रवास के दौरान उनके और उनके प्रतिनिधिमंडल के गर्मजोशी भरे स्वागत और आतिथ्य के लिए अपना हार्दिक धन्यवाद व्यक्त किया।

डकार
जून 3, 2022

Comments
टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code